न्याय विभाग 9/11 के हमले में शामिल सउदी अधिकारी के नाम का खुलासा करेगा

न्याय विभाग 9/11 के हमले में शामिल सउदी अधिकारी के नाम का खुलासा करेगा





वॉशिंगटन. अमेरिकी न्याय विभाग ने कहा कि 11 सितंबर 2001 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर अलकायदा के हमले में कथित तौर पर शामिल एक सऊदी अधिकारी का नाम का खुलासा किया जाएगा। हमले में मारे गए लोगों के परिजनों ने कई वर्षों से इनके नाम जाहिर करने का दबाव बनाए हुए थे जिसके बाद एफबीआई और न्याय विभाग ने इसका फैसला लिया। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि इस नाम को कब जाहिर किया जाएगा।

विभाग ने बताया कि इस अधिकारी के नाम उजागर होने से सऊदी सरकार की सच्चाई सामने आएगी। वे बार-बार अलकायदा से किसी प्रकार के संबंध होने से इनकार करती रही है। इससे उन्हें अरबों डॉलर का नुकसान हो सकता है। एफबीआई की रिपोर्ट में कहा गया कि यह व्यक्ति उन तीन सऊदी अधिकारियों में से एक है जो हमलावरों को सहायता पहुंचाने के लिए अमेरिका पहुंचे थे।

न्याय विभाग ने कहा, “एफबीआई पीड़ितपरिवारों की आवश्यकता और उनकी इच्छा को समझती है कि उनके प्रियजनों के साथ क्या हुआ है और इसके जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।”

दो व्यक्ति सऊदी में अमेरिकी दूतावास पर हमला किए थे

आधिकारिक रिपोर्ट में कहा गया कि कुछ हमलावरों को सऊदी अधिकारियों से रकम मिली थी। इनमें से कुछ सऊदी के खुफिया एजेंसी के अधिकारी थे। दो व्यक्ति फहद अल-थुमैरी और उमर अल-बेयुमी पर सऊदी अरब में अमेरिकी दूतावास पर हमले में शामिल रहे हैं। बाद में एक जांच में इसे खारिज कर दिया कि वे विमान अगवा करनेवाले में शामिल थे।

विमान को अगवा करनेवालों में 15 सऊदी अधिकारी थे

एफबीआई के मुताबिक चार विमानों को अगवा करने में 19 लोग शामिल थे जिसमें 15 सउदी के नागरिक थे। इन विमानों से न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, पेंटागन और व्हाइट हाउस या कांग्रेस पर हमला कराया गया था। इस हमले में न्यूयॉर्क, वाशिंगटन और पेंसिल्वेनिया में लगभग 3,000 लोग मारे गए थे। मृतक के परिजनों ने सऊदी सरकार से हर्जाने की मांग की थी।

DBApp









11 सितंबर 2001 को वर्ल्ड ट्रेंड सेंटर से उठता धुआं।






(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Bhaskar.)