JDS MLA ने कहा- अगर कुमारस्वामी ने कुछ गलत किया है तो जेल भेजना सही

JDS MLA ने कहा- अगर कुमारस्वामी ने कुछ गलत किया है तो जेल भेजना सही
जनता दल सेक्युलर (JDS) के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (Hd kumarswamy)  पर संकट के बादल खत्म होने के नाम नहीं ले रहे हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेता जीटी देवगौड़ा के बाद अब एक और विधायक ने उनके खिलाफ आवाज बुलंद की है.

कर्नाटक की गुब्बी विधानसभा के विधायक एसआर श्रीनिवास ने कहा कि 'अगर कुमारस्वामी ने मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान अवैध टेलीफोन इंटरसेप्शन का आदेश दिया हो तो उन्हें जेल भेज देना चाहिए.'

पिछले महीने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने  केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) द्वारा उन आरोपों की जांच करने की सिफारिश की थी कि कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस के शासन में कई विपक्षी नेताओं, सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं, उनके रिश्तेदारों और लोक सेवकों के फोन टैप किए जाने का दावा किया गया.

अयोग्य करार दिए गए विधायक एएच विश्वनाथ ने कुमारस्वामी सरकार पर फोन टैप करने और उनके सहित 300 से अधिक लोगों की जासूसी करने का आरोप लगाया गया था.कांग्रेस नेताओं ने की थी जांच की मांग

सिद्धारमैया, एम मल्लिकार्जुन खड़गे और महागठबंधन सरकार में गृह मंत्री रहे एमबी पाटिल सहित कांग्रेस नेताओं ने जांच की मांग की थी, जबकि कई भाजपा नेताओं ने कुमारस्वामी पर अपनी सरकार को बचाने के लिए इस प्रकरण के पीछे सीधे आरोप लगाया था.

श्रीनिवास ने कहा कि 'एचडी कुमारस्वामी फोन टैपिंग में शामिल थे या भ्रष्टाचार के जरिए पैसा कमाने में शामिल थे, उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाए.इसमें कुछ गलत नहीं है.'
उन्होंने कहा कि 'क्या कुमारस्वामी को गिरफ्तार नहीं करने का कोई नियम है? मेरी जानकारी के अनुसार, टेलीफोन पर बातचीत उनके कार्यकाल के दौरान अवैध रूप से बाधित हुई थी. मेरा फोन भी उनमें से एक था जो टैप किया गया था. कुमारस्वामी को शायद मुझ पर भी शक था. जिसने भी गलती की है उसे दंडित किया जाना चाहिए.'

श्रीनिवास ने कहा मेरा भी फोन हो रहा था टैप

श्रीनिवास ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि इसके पीछे कुमारवामी थे या अधिकारी  थे. मेरे पास सूचना है कि फोन टैप किए जा रहे थे. जैसे ही मुझे पता चला, मैंने अपना नंबर बदल दिया.' वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ कई वोक्कालिगा संगठनों द्वारा बुधवार कोआयोजित विरोध रैली में शामिल नहीं होने के लिए भी कुमारस्वामी पर श्रीनिवास ने हमला किया.

उन्होंने पूछा 'अगर जेडीएस नेता प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी के बारे में सही मायने में चिंतित हैं, तो वे उनसे दिल्ली में क्यों नहीं मिले? पूरे वोक्कालिगा समुदाय एकजुट होकर शिवकुमार की गिरफ्तारी का विरोध किया. गौड़ा परिवार के सदस्य उपस्थित क्यों नहीं हुए. अगर वे शिवकुमार के बारे में सही मायने में चिंतित हैं, तो वे विरोध करें. हम वाकई चिंतित हैं इसलिए रैली में पहुंचे.'

यह भी पढ़ें:  CBI ने कर्नाटक में कथित फोन टैपिंग की संभाली जांच

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)