रेल यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी: हमसफर एक्सप्रेस में जुड़ेंगे स्लीपर कोच

रेल यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी: हमसफर एक्सप्रेस में जुड़ेंगे स्लीपर कोच

नई दिल्ली: रेलवे ने यात्रियों को राहत प्रदान करते हुए शुक्रवार को अपनी प्रीमियम ट्रेन हमसफर एक्सप्रेस (Humsafar Express) से फ्लेक्सी फेयर हटाने की घोषणा की और इस ट्रेन में स्लीपर कोच जोड़ने का फैसला लिया. रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'हमसफर क्लास की ट्रेनों की मौजूदा परिवर्तनशील किराया व्यवस्था हटा ली गई है. मतलब, इन ट्रनों के लिए अब निर्धारित किराया व्यवस्था ही लागू होगी.' मंत्रालय ने कहा कि यह राहत हमसफर क्लास की 35 जोड़ी ट्रेनों के लिए लागू होगी जिनमें इस समय सिर्फ वातानुकूलित (एसी) टियर-3 कोच हैं.

रेलवे द्वारा कुछ ट्रेनों के एसी चेयर कार और एग्जिक्यूटिवक क्लास में बैठने वाली सीट के लिए 25 फीसदी छूट देने की पेशकश किए जाने के कुछ सप्ताह बाद यह राहत प्रदान की गई है. रेलवे ने जिन ट्रेनों के एसी चेयरकार पर 25 फीसदी छूट दी है उनमें शताब्दी, गतिमान, तेजस, डबल डेकर और इंटरसिटी ट्रेन शामिल हैं. रेलवे ने गुरुवार को मालभाड़े के क्षेत्र में भी कई छूट देने की घोषणा की.

हमसफर ट्रेन के तत्काल टिकट के किराये भी घटाए गए हैं. इसके लिए अब बेस फेय यानी मूल किराया को 1.3 गुना लगेगा जबकि पहले 1.5 गुना लगता था. रेलवे ने यह भी घोषणा की है कि पहला चार्ट बनने के बाद करेंट बुकिंग के तहत बिकने वाले टिकट के लिए बेस फेयर पर 10 फीसदी छूट दी जाएगी और अन्य अनुपूरक प्रभार अन्य सभी ट्रेनों की तरह होगा. मंत्रालय ने कहा कि आनंद विहार-इलाहाबाद हमसफर एक्सप्रेस (Humsafar Express) में शुक्रवार को स्लीपर क्लास के चार कोच पहले ही जोड़े गए हैं.

लाइव टीवी देखें-:

पीएम मोदी ने दिखाई थी हमसफर को हरी झंडी
मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बांद्रा-जामनगर हमसफर एक्सप्रेस (Humsafar Express) को हरी झंडी दिखाई थी. इस दौरान पीएम ने अहमदाबाद मेट्रो रेल के छह किलोमीटर लंबे पहले चरण का उद्घाटन किया था. 

इसी साल अप्रैल में बेंगलुरू जाने वाली हमसफर एक्सप्रेस (Humsafar Express) के दो पहिए को त्रिपुरा की सीमा से लगे दक्षिण असम में पटरी से उतर गए. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रणव ज्योति शर्मा ने कहा, 'अगरतला-बेंगलुरू हमसफर एक्सप्रेस (Humsafar Express) के दो पहिए दक्षिणी असम के करीमगंज जिले में आज (मंगलवार) सुबह पटरी से उतर गए. दुर्घटना राहत ट्रेन बदरपुर (दक्षिणी असम) से पहुंच गई है. कोई हताहत नहीं हुआ है.' उन्होंने कहा कि रेलगाड़ी के पटरी से उतरने के कारणों की जांच की जा रही है और गाड़ी को पटरी पर लाने का काम प्रगति पर है. हादसे की वजह से असम और त्रिपुरा के अलग-अलग स्थानों से अगरतला, गुवाहाटी और कोलकाता जाने वाली कई ट्रेनें फंस गई हैं.

एनएफआर त्रिपुरा की राजधानी अगरतला और दक्षिणी असम से कई एक्सप्रेस, पैसेंजर और मालगाड़ी को लुमडिंग जंक्शन तक एक सिंगल लाइन पर चलाता है. लुमडिंग असम के मुख्य शहर गुवाहाटी से 200 किलोमीटर दूर है.


(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Zee News.)