UK के होटल में दाढ़ी के चलते सिख को नहीं मिली नौकरी, मिलेगा 6.5 लाख का मुआवजा

UK के होटल में दाढ़ी के चलते सिख को नहीं मिली नौकरी, मिलेगा 6.5 लाख का मुआवजा
लंदन. एक सिख आदमी (Sikh man) को 7000 पाउंड यानी करीब 6 लाख 55 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. क्योंकि उसे धार्मिक आधार पर एक होटल ने नौकरी देने से मना कर दिया था. जिस होटल ने ऐसा किया वो लंदन (London) का लक्जरी क्लैरिज्स होटल (Luxury Claridge's Hotel) है. इस होटल में 'नो-बियर्ड' (बिना दाढ़ी) पॉलिसी है.

एक ब्रिटिश इंप्लॉयमेंट ट्रिब्यूनल (UK employment tribunal) ने इस मामले में सुनवाई की और पाया कि न्यूजीलैंड के रहने वाले रमन सेठी (Raman Sethi) को नौकरी दिए जाने से इसलिए मना कर दिया गया था क्योंकि उनकी दाढ़ी थी. उन्हें नौकरी देने से रिक्रूटमेंट एजेंसी एलीमेंट्स पर्सनल सर्विसेज लिमिटेड के जरिए मना किया गया था क्योंकि उनके खास क्लाइंट्स के लिए उनकी 'न ही चोटी और न ही दाढ़ी की पॉलिसी' है.

जज ने कहा, 'होटल ने क्लाइंट्स से नहीं पूछा सिखों के लिए नियम में अपवाद हो सकता है या नहीं'
हालांकि जज हॉली स्टाउट ने पाया कि होटल को स्वयं यह अधिकार नहीं है कि वह फैसला करे कि किसी सिख को धार्मिक आधार पर सिखों को नौकरी न देने का फैसला करने का अधिकार नहीं है.जज स्टाउट ने कहा, "एजेंसी ने कोई भी ऐसा सुबूत पेश नहीं किया है जिससे पता चले कि उनके क्लाइंट्स से यह पूछा गया हो कि वे एक सिख से सेवाएं लेना पसंद करेंगे या नहीं, अगर वो धार्मिक कारणों से शेव न कर सकता हो."

5 हजार डॉलर का मुआवजा सिख की भावनाओं को आहत करने के लिए
उन्होंने अपने फैसले के अंत में कहा, हमारे सामने रखे गए सबूतों में कुछ भी ऐसा नहीं है जिससे पता चलता हो कि सिखों के लिए उनकी पॉलिसी में अपवाद की कोई गुंजाइश नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने 7,102 पाउंड का मुआवजा उन्हें देने का फैसला किया. इसमें से 5 हजार रुपये उनकी भावनाओं को आहत करने के लिए हैं.
यह भी पढ़ें: उस पवन जल्लाद की कहानी, जो देगा निर्भया गैंगरेप-मर्डर कांड के दोषियों को फांसी

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)