सरकार ने कहा, 20 लोगों के वॉट्सऐप की इजरायली स्पाईवेयर पेगासस से हुई निगरानी

सरकार ने कहा, 20 लोगों के वॉट्सऐप की इजरायली स्पाईवेयर पेगासस से हुई निगरानी
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने माना 20 लोगों के पर्सनल वॉट्सऐप डेटा (Whatsapp Data) की निगरानी की गई है. सरकार ने माना है कि इसके पीछे इजरायली पेगासस स्पाईवेयर (Pegasus Spyware) का ही हाथ था. सरकार ने बताया कि इस मामले में 121 लोगों के वॉट्सऐप डेटा को टारगेट किया था.

दुनिया भर में पेगासस स्पाईवेयर (Pegasus Spyware) की जासूसी के शिकार 1400 में से 121 भारतीय नागरिक पिछले महीने फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी (वॉट्सऐप) ने कहा था कि भारतीय पत्रकार (Indian Journalists) और नागरिक अधिकार कार्यकर्ता भी उन लोगों में शामिल थे, जिनकी पेगासस स्पाईवेयर के जरिए निगरानी की जा रही थी.

कम से कम 20 यूजर्स के डेटा का अटैकर्स ने किया एक्सेस: प्रसाद
रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने लोकसभा में बताया, "वॉट्सऐप लगातार उपलब्ध जानकारियों का रिव्यू कर रहा है. यह भी जिक्र किया गया है कि वॉट्सऐप मानता है कि वॉट्सऐप का प्रयोग करने वाले भारत के 121 यूजर्स के डेटा पर हमला किया गया था जिसमें से कम से कम 20 यूजर्स का डेटा अटैकर्स ने एक्सेस किया है."इससे पहले मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप (Whatsapp) ने पेगासस स्पाईवेयर (Pegasus Spyware) के मामले में सरकार को पत्र लिखकर खेद जताया था. सरकार (Government) की ओर से वरिष्ठ सूत्रों ने यह भी बताया था कि इस पत्र में वॉट्सऐप की ओर से सुरक्षा मानकों (Safety standards) को सुनिश्चित करने के लिए हर जरूरी कदम उठाने की बात भी कही गई थी.

वॉट्सऐप ने सरकार से कहा था सुरक्षा के लिए किए जायेंगे सभी प्रबंध
पहले सरकार ने वॉट्सऐप को यह भी साफ किया था कि वह मैसेजिंग ऐप (Messaging App) पर सुरक्षा में खामी बर्दाश्त नहीं करेगी.
वॉट्सऐप के अनुसार, स्पाईवेयर को इजरायल (Israel) के NSO ग्रुप ने दुनियाभर में 1400 यूजर्स को जासूसी का निशाना बनाया था. इन यूजर्स में 121 यूजर्स भारत के भी थे.

वॉट्सऐप ने कहा था- सभी मैसेज और कॉल्स के लिए उपलब्ध कराएंगे मजबूत सिक्योरिटी
सरकार के इन अटैक के बारे में और जानकारी मांगने के बाद वॉट्सऐप ने कहा था कि इसने भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांड टीम (CERT-In) को सितंबर में इन 121 भारतीयों पर पेगासस की निगरानी के बारे में बताया था.

वॉट्सऐप के प्रवक्ता ने एक मेल के जरिए दिए बयान में कहा था कि कंपनी भारत के उपभोक्ताओं (Consumers) की प्राइवेसी की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है. उपभोक्ताओं की सुरक्षा को भविष्य में ऐसा खतरा न हो इसके लिए वह इंडस्ट्री की सबसे मजबूत सिक्योरिटी सभी मैसेज और कॉल्स (Messages and Calls) के लिए उपलब्ध कराएंगे.

यह भी पढ़ें: सरकार ने दवाइयों की ऑनलाइन की बिक्री पर लगायी रोक, जानें क्या है वजह?

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)