डॉक्टरों ने टॉर्च की रोशनी में किया पोस्टमार्टम, परिजनों ने किया हंगामा

डॉक्टरों ने टॉर्च की रोशनी में किया पोस्टमार्टम, परिजनों ने किया हंगामा
बगहा. बिहार (Bihar) में सरकारी अस्पलात (Government hospital) के हाल कितने अच्छे हैं यह किसी से छिपा नहीं है. कभी चमकी बुखार से हफ्ते भर में सैकड़ों बच्चे मर जाते हैं तो कभी अस्पताल में जरूरी संसाधनों की कमी से मरीज की जान चली जाती है.

अस्पताल (Hospital) में संसाधनों की कमी का ताजा मामला बगहा में सामने आया है. यहां पर जिला स्वास्थ्य विभाग ने टॉर्च की रोशनी में शव का पोस्टमार्टम (Postmortem) किया. इसके बारे में लोगों को जैसे ही जानकारी हुई लोगों ने जमकर हंगामा किया.

बगहा (Bagaha) में अस्पताल में बिजली ना होने के कारण डॉक्टरों ने टार्च की रोशनी में एक लड़के के शव का पोस्टमार्टम किया. पोस्टमार्टम कराकर पुलिस मौत के असली कारणों का पता लगाती हैं. ऐसे में अगर पोस्टमार्टम टार्च की रोशनी में हो तो क्या पोस्टमार्टम पर सवाल नहीं उठेंगे.

मगरमच्छ के हमले में हुई थी किशोर की मौतमगरमच्छ (Crocodile) के हमले में किशोर की मौत के मामले में शव पोस्टमार्टम के लिए बगहा अनुमंड़लीय अस्पताल में आया वरीय पदाधिकारी के आदेशानुसार पोस्टमार्टम हुआ. लाइट नहीं होने पर मोबाइल के रोशनी में ही डॉक्टर एस.पी. अग्रावाल की देखरेख में बच्चे का पोस्टमार्टम हुआ. परिजनों को जब इसके बारे में पता चला की अस्पताल में लाइट की सुविधा नहीं हैं तो उन्होंने हंगामा किया.

ये भी पढ़ें- बगहा: हाईवा-पिकअप में भीषण टक्कर, 8 लोगों की मौत, चार घायल

 

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)