मुहर्रम और गणेश चतुर्थी साथ मना रहे लोग, खूबसूरत नजारा सोशल मीडिया पर वायरल

मुहर्रम और गणेश चतुर्थी साथ मना रहे लोग, खूबसूरत नजारा सोशल मीडिया पर वायरल
'मेरा मज़हब इश्क़ का मज़हब जिस में कोई तफ़रीक़ नहीं
    मेरे हल्क़े में आते हैं 'तुलसी' भी और 'जामी' भी'

क़ैशर शमीम की ये शायरी इस तस्वीर के रंगे मिजाज़ को बख़ूबी बयान करती है. यह तस्वीर दादर और नागर हवेली की राजधानी सिलवासा की है. जहां एक ही वक्त पर दो मजहब के लोग दो अलग-अलग त्योहार मनाते दिख रहे हैं. डिवाइडर से पटे सड़क के दो किनारों पर एक हिस्सा अल्लाह का है तो दूसरा भगवान गणेश का वहीं जो बीच का हिस्सा है वह इंसानियत, भाईचारे, मोहब्बत और सौहार्द का है.

भारत की विविधता और सहिष्णुता पर चोट करने वाली धार्मिक उन्माद की खबरें आए दिन हमारा जी खट्टा करती हैं. मॉब लिंचिंग के इस दौर में ऐसी तस्वीर का सामने आना ठीक वैसा ही है जैसे चिलचिलाती धूप के बाद बरसात का चले आना. जैसे एक अरसे के पतझड़ के बाद वसंत का हमारे देश में आगमन हो जाना.त्योहारों के इस देश में जहां तस्वीर में दिख रहे हिंदू धर्म के लोग गणेश चतुर्थी मना रहे हैं, वहीं मुसलमान धर्म के लोग मुहर्रम का जुलूस निकाल रहे हैं. अक्सर त्योहार के रंग में हुडंदंग करने वाली इस भीड़ ने एक दूसरे को त्योहार की शुभकामना तो दी ही, हाथ मिलाकर मोहब्बत की बानगी पेश की.

इस तस्वीर के सामने आने के बाद से कई लोग इसे ट्विटर और फेसबुक पर शेयर कर रहे हैं. कोई इसे यूनाइटेड इंडिया की तस्वीर बता रहा है तो कोई इसे दिस इज़ इंडिया कहकर शेयर कर रहा है.

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)