'50-60 हजार की जगह हुआ 2 लाख का चालान, पुलिस के खिलाफ मैं हाईकोर्ट जाउंगा'

'50-60 हजार की जगह हुआ 2 लाख का चालान, पुलिस के खिलाफ मैं हाईकोर्ट जाउंगा'
नई दिल्ली. मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) के तहत अब तक के सबसे बड़े चालान की रकम पर सवाल उठने लगे हैं. लाखों रुपये का चालान कोई पचा नहीं पा रहा है. दिल्ली-एनसीआर में तो पुलिस बहुत बेरहमी से लोगों के लाखों के चालान काटने में जुटी हुई है. ऐसे में वर्दी पर भी आरोप लगने शुरू हो गए हैं. जिस व्यक्ति के ट्रक का दिल्ली पुलिस  (Delhi Police) ने 2 लाख 500 रुपये का चालान (Traffic challan) काटा है उसने हाईकोर्ट (High Court) जाने का एलान कर दिया है.

देश का सबसे बड़ा चालान शाहबाद दौलतपुर के रहने वाले ट्रक मालिक लोकेश का हुआ है. जिस ट्रक का इतना भारी भरकम जुर्माना हुआ है उस पर 18 टन ओवरलोड का आरोप है. पुलिस का आरोप है कि ड्राइवर के पास कोई कागज भी नहीं था. रोहिणी में जीटी करनाल रोड के मुकरबा चौक पर भलस्वा की तरफ जाते समय हरियाणा नंबर की इस गाड़ी का चालान कटा था. बृहस्पतिवार को रोहिणी कोर्ट में चालान की रकम जमा भी करवा दी गई है.

 traffic challan, ट्रैफिक चालान, high court, हाईकोर्ट,  indias biggest amount of traffic challan, भारत में सबसे ज्यादा पैसे का ट्रैफि चालान, आरसी, RC, बीमा, Insurance, Delhi news, दिल्ली समाचार, new motor vehicle act, नया मोटर व्हीकल एक्ट, दिल्ली पुलिस, delhi police, overloaded truck challan, ओवरलोड ट्रक का चालान
दिल्ली पुलिस ने काटा है सबसे ज्यादा रकम वाला चालान (प्रतीकात्मक फोटो)


न्यूज18 से बातचीत में लोकेश ने कहा कि मेरी गाड़ी को रोक कर ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने 11 सेक्शन में चालान किया है. लाइसेंस, पॉल्युशन, इन्श्योरेंस, परमिट का उल्लंघन, खुले में माल ले जाना समेत कई धाराएं लगाई हैं. उन्होंने दावा किया कि उनकी गाड़ी में सिर्फ पॉल्युशन सर्टिफिकेट नहीं था लेकिन विभाग ने सारी धाराएं उसमें जोड़ दीं. लोकेश ने कहा कि उन्होंने चार लोगों से पैसा लेकर भुगतान किया है. 25 टन की क्षमता वाली गाड़ी में 18 टन ओवरलोड का जुर्माना कर दिया गया. जुर्माना 50-60 हज़ार का होना चाहिए था लेकिन इतनी बड़ी रकम पर क्यों हुआ नहीं पता. पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ मैं हाईकोर्ट जाऊंगा.उधर, हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि नए मोटर वाहन कानून में जिस प्रकार से चालान किए जा रहे हैं उससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है. "मैं हरियाणा सरकार से कहता हूं कि तुरंत इसको वापस ले या जुर्माना कम से कम करे." इस बीच कई राज्यों में मोटर व्हीकल एक्ट के तहत जुर्माने की रकम को कम करने की तैयारी हो रही है. यूपी, महाराष्ट्र जैसे बीजेपी शासित राज्य इनमें शामिल हैं. गुजरात सरकार पहले ही जुर्माना कम कर चुकी है.

ये भी पढ़ें:

चेकिंग का वीडियो बनाते वक्त आपके मोबाइल को हाथ भी नहीं लगा सकती ट्रैफिक पुलिस!
नई गाड़ी में साल भर तक जरूरी नहीं है PUC

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)