UNHRC से खाली लौटने पर पाक को भारत की सलाह- कई बार दोहराने से झूठ सच नहीं होता

UNHRC से खाली लौटने पर पाक को भारत की सलाह- कई बार दोहराने से झूठ सच नहीं होता
नई दिल्ली. भारतीय विदेश मंत्रालय (Ministry Of Foreign Affairs) के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पाकिस्तान (Pakistan) की हाल-फिलहाल की सभी गतिविधियों को लेकर भारत की ओर से जवाब दिया. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) के लिए काउंसलर एक्सेस (Consular Access) से लेकर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में पाकिस्तान के झूठ के पुलिंदों तक कई मुद्दों पर बात की.

रवीश कुमार ने बताया कि भारत कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) के लिए प्रयास करता रहेगा. वहीं करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) के माध्यम से ज्यादा दर्शनार्थी दर्शन के लिए रोजाना जा सकें, भारत इसके लिए भी प्रयास करेगा.

कुलभूषण जाधव के लिए करते रहेंगे प्रयास
पाकिस्तान की ओर से कुलभूषण जाधव को दूसरी बार काउंसर एक्सेस न दिए जाने के बयान पर भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि हम इसके लिए प्रयास करते रहेंगे कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) के फैसले को पूरी तरह से लागू किया जाए. हम राजनयिक माध्यमों से पाकिस्तान की ओर संपर्क में रहने की कोशिश करेंगे.


करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से ज्यादा दर्शनार्थियों को भेजने का प्रयास
करतारपुर कॉरिडोर (kartarpur Corridor) के मसले पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि पाकिस्तान हमारी ओर से प्रस्तावित कम से कम दर्शनार्थियों की संख्या को लेकर राजी नहीं हुआ है. इसके लिए पाकिस्तान ने अपनी ओर मूलभूत सुविधाओं की कमी का हवाला दिया है. हमने पाकिस्तान से इस मसले पर थोड़ी और छूट दिए जाने की गुजारिश की है.



जम्मू-कश्मीर में वर्तमान परिस्थितियां सामान्य
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) की वर्तमान परिस्थितियों के बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि राज्य में दवाओं की कोई कमी नहीं है. 95% स्वास्थय कर्मचारी अपने-अपने काम पर लौट चुके हैं. बैंकिंग सुविधाएं भी बिल्कुल सही तरीके से काम कर रही हैं. जम्मू-कश्मीर के 92% इलाकों में अब कोई पाबंदी नहीं है.



UNHRC में कुछ नहीं लगा पाक के हाथ
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पाकिस्तान कश्मीर (Kashmir) के मुद्दे को लेकर गया था लेकिन वहां से भी उसे निराशा ही हाथ लगी है. इसके बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में हमारे प्रतिनिधिमंडल ने हमारे पक्ष को रखा. हमने पाकिस्तान के झूठों और तोड़-मरोड़कर पेश किए गए बयानों का जवाब दिया. अंतरराष्ट्रीय समुदाय पाकिस्तान के अंदर आतंकवाद को बढ़ावा देने के पाकिस्तान के रोल के बारे में जानता है.

इतना ही नहीं रवीश कुमार ने पाकिस्तान की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि पाकिस्तान, जो कि खुद वैश्विक आतंकवाद का गढ़ है, उसके लिए वैश्विक समुदाय के सामने नागरिक अधिकारों के बारे में बोलने का नाटक करने की बात काफी साहसिक रही होगी. यह बड़ी बात है. उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि एक झूठ को बार-बार दोहराने से वह सच नहीं हो जाता है, यही बात इस बैठक के दौरान भी सामने आई.



यह भी पढ़ें: कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान ने मानी हार, कहा - दुनिया को साथ नहीं ला पाई इमरान सरकार

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)