योगी ने फैसले वाले दिन पुलिस कंट्रोल रुम में बैठ कर ऐसे संभाला था मोर्चा

योगी ने फैसले वाले दिन पुलिस कंट्रोल रुम में बैठ कर ऐसे संभाला था मोर्चा
नई दिल्ली. अयोध्या (Ayodhya) पर शनिवार को आए ऐतिहासिक फैसले (Historical verdict) के दौरान देश में सभी पक्षों ने संयम दिखाया. फैसले के दिन सभी दलों और अळग-अलग संप्रदाय के धर्मगुरुओं की प्रतिक्रिया भी संतुलित और संयमित दिखी. फैसले से पहले जहां देश के गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) खुद कानून व्यवस्था पर नजर रख रहे थे तो वहीं कई राज्यों (States) के सीएम (Chief Ministers) ने भी मोर्चा संभाल रखा था. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी खुद तैयारियों पर नजर रख रहे थे. शुक्रवार देर शाम से शनिवार देर शाम तक आदित्यनाथ ने खुद मोर्चा संभाल रखा था.

सीएम योगी ने खुद संभाल रखा था मोर्चा

बता दें कि शुक्रवार से लेकर शनिवार देर शाम तक योगी आदित्यनाथ और डीजीपी ओ पी सिंह (DGP OP Singh) के बीच दर्जनों बार बातचीत हुई. शुक्रवार को रात आठ बजे के आस-पास यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ राज्य के डीजीपी से बोल रहे थे, 'आप कितनी देर में लखनऊ पहुंच रहे हैं. आइए एक बार फिर से तैयारियों की समीक्षा करनी है.'  बता दें कि योगी आदित्यनाथ तड़के उठ जाते हैं, लेकिन शनिवार को योगी और पहले उठ गए और अपना पूजा-पाठ संपन्न कर राज्य की कानून व्यवस्था की समीक्षा में लग गए. शनिवार सुबह एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओपी सिंह से फोन पर बात की और पूरे राज्य की हालात का जायजा लिया.

शुक्रवार से लेकर शनिवार देर शाम तक योगी आदित्यनाथ और डीजीपी ओ पी सिंह के बीच दर्जनों बार बातचीत हुई.
शुक्रवार से लेकर शनिवार देर शाम तक योगी आदित्यनाथ और डीजीपी ओ पी सिंह के बीच दर्जनों बार बातचीत हुई.
सीएम योगी इतने पर नहीं रुके खुद यूपी 112 के कंट्रोल रुम पहुंच गए. कंट्रोल रुम पहुंच कर खुद ही राज्य के हर जिले डीएम, एसएसपी और एसपी को हिदायत देने लगे. सीएम ने राज्य के सभी अधिकारियों को साफ लहजे में कह दिया कि सुरक्षा प्रबंधों में किसी भी तरह की चूक नहीं होनी चाहिए. योगी आदित्यनाथ राज्य के संवेदनशील जिलों के डीएम, एसएसपी और एसपी से खुद सुरक्षा के सवाल करने लगे.

यूपी-112 के मुख्यालय में पहुंच कर खुद संभाला मोर्चा

योगी आदित्यनाथ यूपी-112 के मुख्यालय में लगे वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए भी हर जिले के पुलिस कप्तानों को पुलिस गश्त के बारे में पूछ रहे थे. सीएम को किसी अधिकारी की बात से संतुष्ट नहीं होते तो खुद हिदायत दे कर उन जगहों पर पुलिस गश्त और तेज करने को कहा. योगी आदित्यनाथ ने डीएम, कमिश्नर, आईजी सहित आलाधिकारी को लगातार क्षेत्र में मुस्तैद रहने को कहते रहे.
up police
सीएम डायल-112 के मुख्यालय में लगे वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए हर जिले के पुलिस कप्तानों को गश्त के बारे में पूछ रहे थे (प्रतीकात्मक तस्वीर)


करीब 11.30 बजे के आस-पास योगी आदित्यनाथ यूपी 112 मुख्यालय से निकल कर सीएम आवास लौट आए. इस दौरान राज्य के चीफ मुख्य सचिव, डीजीपी और कई आलाधिकारी सीएम के साथ ही मौजूद रहे और पूरे राज्य के बारे में बताते रहे. इस दौरन सभी अधइकारियों के मोबाइल लगातार बज रहे थे. जैसे ही मोबाइल पर अधिकारियों की बात खत्म हो जाती वह सीएम को इस बारे में बताते रहे.

ये भी पढ़ें: 

Ayodhya Verdict: जानिए क्या था अयोध्या मसले पर इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला

Ayodhya Verdict: जानिए कौन हैं वो 5 जज, जिन्होंने देश के सबसे बड़े मुकदमे का ऐतिहासिक फैसला सुनाया

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)