महाबलीपुरम: PM नरेंद्र मोदी से बातचीत के लिए पहुंचे शी जिनपिंग, थोड़ी देर में होगी वार्ता

महाबलीपुरम: PM नरेंद्र मोदी से बातचीत के लिए पहुंचे शी जिनपिंग, थोड़ी देर में होगी वार्ता

चेन्नई: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) के भारत दौरे का आज दूसरा दिन है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) एक बार फिर सुबह करीब 10 बजे कोव रिसॉर्ट में जिनपिंग से मुलाकात करेंगे. तमिलनाडु के महाबलीपुरम में दोनों नेताओं के बीच यह दूसरी अनौपचारिक मुलाकात है. मोदी-जिनपिंग की बातचीत के दौरान कई अहम मुद्दे पर चर्चा हो सकती है. दोनों देशों के बीच आतंकवाद के खिलाफ सहयोग, अमेरिका से ट्रेड वार और इससे पड़ने वाले आर्थिक पर बात हो सकती है.

मोदी-शी की मुलाकात का कार्यक्रम:-

1. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चेन्नई के आईटीसी ग्रैंड चोला होटल से रवाना होकर महाबलीपुरम पहुंचेंगे.

2. पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी ताज फिशरमेन्स होटल के कॉव रिज़ॉर्ट एंड स्पा में एक एक बैठक करेंगे.

3. जिसके बाद दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता होगी. इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल भी मौजूद रहेंगे. दोनों पक्ष फिर शिखर सम्मेलन के परिणाम पर अलग-अलग बयान जारी करेंगे.

4. इसके बाद करीब 11:45 बजे मेहमान शी जिनपिंग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंच रखा है. इसमें जिनपिंग को लजीज व्यंजन परोसे जाएंगे.

5. दोपहर के भोजन के बाद राष्ट्रपति जिनपिंग 12 बजकर 45 मिनट पर चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए जाएंगे और दोपहर 1 बजकर 30 मिनट पर विमान से नेपाल के लिए रवाना हो जाएंगे.

इससे पहले, शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अनौपचारिक मुलाकात करने के लिए चेन्नई पहुंचे. एयरपोर्ट पर उनका शानदार स्वागत हुआ और वहां उन्होंने भारत की महान संस्कृति की एक झलक देखी. इसके बाद सड़क के रास्ते वो चेन्नई से करीब 50 किलोमीटर दूर स्थित महाबलीपुरम पहुंचे. जहां प्रधानमंत्री मोदी तमिलनाडु की पारंपरिक पोशाक वेष्टी में शी जिनपिंग का इंतज़ार कर रहे थे.

बिरयानी से लेकर मालाबार लॉबस्टर, मोदी-जिनपिंग के डिनर में थे इतने लजीज व्यंजन

प्रधानमंत्री मोदी ने शी जिनपिंग का स्वागत किया, उनसे काफी देर बातचीत की और फिर दोनों नेता अर्जुन तपस्या स्थल पर बने मंदिर को देखने पहुंचे, लेकिन आज महाबलीपुरम में भारतीय संस्कृति और इतिहास के दर्शन करते वक्त शी जिनपिंग के चेहरे पर उत्सुकता और कौतूहल के भाव साफ देखे जा सकते थे क्योंकि वो प्रधानमंत्री मोदी की एक एक बात बहुत ध्यान से सुन रहे थे, और अपने आसपास की कलाकृतियों को समझने में रुचि भी ले रहे थे.

 


(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Zee News.)