लता मंगेशकर को निमोनिया, जानिए इसके लक्षण और बचाव

लता मंगेशकर को निमोनिया, जानिए इसके लक्षण और बचाव
बॉलीवुड की दिग्गज गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) की तबीयत खराब होने के चलते उन्हें सोमवार को उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया. अस्पताल के सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि लता मंगेशकर को लगभग 2 बजे अस्पताल लाया गया. उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. निमोनिया देखा जाए तो एक साधारण बीमारी है लेकिन अगर वक्त रहते इसका इलाज नहीं किया गया तो ये जानलेवा भी साबित हो सकती है. आइए जानते हैं इस बीमारी के लक्षण और बचाव ...

इसे भी पढ़ेंः Viral Video: सुई लगाने से न रोये बच्चा, इसलिए डॉक्टर ने गाया गाना

वेबसाइट हेल्थ लाइन के अनुसार, निमोनिया के निम्न लिखित लक्षण हैं...

1.बलगम के साथ कफ आना2. बुखार आना
3.बहुत तेज ठंड लगना या पसीना आना
4.रोजमर्रा के साधारण काम करते वक्त भी सांस लेने में परेशानी महसूस होना
5.सांस लेते समय या खांसते समय सीने में तेज दर्द होना और सांसे तेजी से चलना
6.हर समय थकन और सुस्ती महसूस होना
7.भूख न लगना
8.उल्टियां आना या उबकाई महसूस होना
9.सिर दर्द

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में निमोनिया से बचने के लिए जरूर खाएं ये 5 चीजें, नहीं लगेगी ठंड

क्या है निमोनिया क्या है?
फेफड़ों में इन्फेक्शन की वजह से आने वाली सूजन को निमोनिया कहते हैं. इस बीमारी में फेफड़ों के भीतर हवा की जगह मवाद बनाना चालू हो जाता है. इससे फेफड़ों में ऑक्सीजन पहुंचने में दिक्कत आती है.

निमोनिया से ऐसे करें बचाव:
*कई मामलों में निमोनिया से बचाव संभव है. निमोनिया से बचने के लिए टीकाकरण काफी अहम है. प्रीव्नर 13 (PVC13) और न्यूमोवैक्स (Pneumovax 23, PPSV23) ये निमोनिया की वैक्सीन है जो इससे लड़ने में मदद करती है. लेकिन इसके लिए सबसे पहले डॉक्टर से परामर्श लें. Hib vaccine भी निमोनिया के लिए एक अच्छी वैक्सीन है. निमोनिया से बचने के लिए स्मोकिंग छोड़ना बेहतर है. इसके साथ ही आपके नियमित तौर पर हाथ धुलना, खांसते और छींकते वक्त मुंह पर रुमाल रखना. इस्तेमाल किये गए टिश्यू पेपर का दुबारा इस्तेमाल न करना और अपने इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाना बेहद जरूरी है.

 

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)