ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा- मरने के बाद भी इंसान को नहीं मिलती शांति, शव हिलता-डुलता है

ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा- मरने के बाद भी इंसान को नहीं मिलती शांति, शव हिलता-डुलता है





साइंस डेस्क. मरने के बाद भी इंसानी शरीर करीब एक साल तक हरकत करता है यानी अपनी जगह से खिसकता है। लाश हिलती-डुलती है, यह दावा ऑस्ट्रेलिया की वैज्ञानिक एलिसन विल्सन ने अपनी रिसर्च में किया है। 17 महीने तक चली इस रिसर्च में एलिसन ने लाश पर नजर रखी और उसके हर मूवमेंट को कैमरे में कैद किया।

एलिसन का कहना है कि मरने के बाद भी इंसान के शरीर में कुछ हद तक गति करती है और इसी कारण कई बार मुर्दे के जिंदा होने का वहम भी होता है।

  1. एलिसन विल्सन के मुताबिक, उन्होंने एक लाश पर केस स्टडी की। रिसर्च की शुरुआत में शव के हाथ को शरीर से चिपाकर रखा गया। समय बीतने के साथ पाया कि हाथ धीरे-धीरे बाहर की तरफ खिसक गया। उनका मानना है कि इस तरह की हरकत का सम्बंध है डीकंपोजिशन से है। यानी समय के साथ जैसे-जैसे शरीर सूखता है वह मूवमेंट करता है।

  2. एलिसन कहती हैं, इस रिसर्च से मर्डर और मौत के मामलों की पड़ताल में मदद मिल सकती है। शव पर रिसर्च करने के लिए एलिसन हर महीने तीन घंटे की फ्लाइट लेकर कैर्न्ससे सिडनी जाती थीं। यहरिसर्च यहीं पर हो रही थी। इंसान के शवों की मूवमेंट ऑब्जर्व करने के लिए टाइम लैप्स कैमरा लगाया गया था। जो हर 30 मिनट में शवों की तस्वीरें लेता था।

  3. एलिसन का कहना है, बचपन से जिज्ञासा थी कि मौत के बाद शरीर का क्या होता है उसमें किस तरह के बदलाव होते हैं। इसके और भी बेहतर तरीके से समझने लिए रिसर्च जारी है। फोरेंसिक साइंस इंटरनेशनल सिनर्जी जर्नल के मुताबिक, इस रिसर्च की मदद मौत के बाद शरीर में होने वाले बदलावों को समझा जा सकेगा।

  4. एलिसन का कहना है, खुशी है कि मैं अपनी रिसर्च में सफल हुई और लाश में दिखने वाली हरकत को सबसे सामने ला पाई। इसे अब तक कोई नहीं समझा पाया है। इसे और भी बेहतर समझाने की कोशिश कर रही हूं।









    1. Human bodies move around for more than a year after death says Australian scientists






      (Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Bhaskar.)