प्रधानमंत्री व्यापारी मानधन योजना: मोदी सरकार की इस स्कीम पर फिदा हुआ हरियाणा!

प्रधानमंत्री व्यापारी मानधन योजना: मोदी सरकार की इस स्कीम पर फिदा हुआ हरियाणा!
नई दिल्ली. छोटे कारोबारियों को सामाजिक सुरक्षा देने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) ने किसानों की तरह ही प्रधानमंत्री लघु व्यापारिक मानधन योजना (Pradhan Mantri Laghu Vyapari Maan Dhan Yojana) शुरू की है. जिसके तहत व्यापारियों को भी उनके बुढ़ापे में पेंशन दी जाएगी. बृहस्पतिवार को झारखंड की राजधानी रांची में पीएम नरेंद्र मोदी ने इसकी शुरुआत की. लेकिन इसमें यह वर्ग वैसी दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है जैसी किसानों ने दिखाई है. केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक अब तक सिर्फ 1187 व्यापारियों ने इस पेंशन स्कीम (Pension-Scheme) के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है, इसमें भी 353 आवेदनों के साथ हरियाणा (Haryana) नंबर वन है. जबकि यह छोटा स्टेट है.

यह योजना 18 से 40 साल की उम्र के व्यापारियों (Traders) के लिए है, जिसमें उन्हें 60 साल की उम्र पूरा होने के बाद हर माह 3000 रुपये पेंशन मिलेगी. स्कीम ऐसे व्यापारियों के लिए है जिनकी वार्षिक टर्नओवर 1.5 करोड़ रुपये से कम हो. आयकर देने वाले व्यापारियों को भी इसका लाभ नहीं मिलेगा. कोई भी अन्य व्यापारी अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर इसका रजिस्ट्रेशन करवा सकता है. इसके लिए 55 रुपये प्रतिमाह से प्रीमियम शुरू होगा. प्रीमियम की रकम बढ़ती उम्र के हिसाब से 200 रुपये महीने तक होगी. व्यापारी जितना प्रीमियम केंद्र सरकार भी देगी. स्कीम का लाभ लेने के लिए व्यापारी को आधार कार्ड देना होगा.

pradhan mantri laghu vyapari maan dhan yojana, प्रधानमंत्री लघु व्यापारिक मानधन योजना , Ministry of Labour & Employment, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, Haryana news, हरियाणा, pension scheme for vyapari, व्यापारियों के लिए पेंशन स्कीम, National Pension Scheme for Traders, व्यापारियों के लिए पेंशन योजना, modi government, मोदी सरकार, नरेंद्र मोदी, narendra modi, business news, बिजनेस समाचार
यूपी और बिहार के व्यापारी नहीं दिखा रहे रुचि


लगभग 20 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में सिर्फ 79 व्यापारियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है. महाराष्ट्र में सिर्फ 68 और बिहार में 89 लोगों ने ही इसमें दिलचस्पी दिखाई है. 11 राज्यों में एक भी व्यापारी ने रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है. दिल्ली में सिर्फ 11 लोगों ने आवेदन किया है, लेकिन झारखंड में अच्छी संख्या है. यहीं पर योजना की शुरुआत हुई है. 26 से 35 उम्र वर्ग के सबसे ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो रहे हैं.केंद्र सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, किसानों और व्यापारियों तीनों की पेंशन स्कीम शुरू की है. कोशिश है कि हर वर्ग के लोग अपने बुढ़ापे में किसी के आगे हाथ न फैलाएं. बल्कि वो पेंशन लेकर सम्मानित जीवन व्यतीत करें.

यह भी पढ़ें:
नया संसद भवन बनाने की तैयारी में मोदी सरकार, खत्म होगी अंग्रेजों की निशानी!
Exclusive:8 लाख किसानों ने सुरक्षित किया अपना बुढ़ापा, प्रतिमाह मिलेंगे 3000 रुपए!

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)