Google ने Doodle बनाकर माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट Hans Christian को किया याद

Google ने Doodle बनाकर माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट Hans Christian को किया याद
गूगल (Google) दुनिया में खास तरह का योगदान देने वाले लोगों को अक्सर डूडल (Doodle) बनाकर याद करता है. आज यानी 13 सितंबर को गूगल ने डेनमार्क (Denmark) के मशहूर माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट Hans Christian Gram को याद किया है. आज उनका 166वां जन्मदिन है. उन्हें Gram Stain की खोज के लिए जाना जाता है. इस तरीके से बैक्टीरिया को अलग अलग प्रजातियों में बांटा जा सकता है. इन्होंने बैक्टीरिया को ग्राम- पॉज़िटिव और ग्राम-निगेटिव में बांटा था.

Hans Christian का जन्म 13 सितंबर 1853 को हुआ था. Hans Christian एक डेनिश माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Microbiologist) थे. उन्होंने 1878 में अपनी M.D. की डिग्री यूनिवर्सिटी ऑफ कोपेनहेगन से हासिल की. इसके बाद उन्होंने फार्माकोलॉजी और बैक्टीरियोलॉजी के अध्ययन के लिए यूरोप में 1883 से 1885 तक यात्रा की. इस दौरान बर्लिन में 1884 में बैक्टीरिया के वर्गीकरण के तरीके को उन्होंने ईजाद किया. उनके इसी काम के लिए उन्हें आज भी दुनिया भर में याद किया जाता है.

हैंस क्रिश्चियन ग्राम ने बैक्टीरिया को उनके केमिकल और फिज़िकल प्रॉपर्टीज़ के आधार पर वर्गीकृत किया. बैक्टीरिया की भीतरी झिल्ली के आधार पर और इसके केमिकल और फिज़िकल प्रॉपर्टीज़ के आधार पर हैंस ने इनको अलग-अलग प्रजातियों में बांटा.

गूगल ने जो डूडल बनाकर हैंस क्रिश्चियन को याद किया है उसमें ग्रैम के प्रयोग से लेकर माइक्रोस्कोप और बैक्टीरिया के नमूनों की बारीकी तक सब कुछ दिखाया गया है. हैंस क्रश्चियन ने 14 नवंबर 1938 को दुनिया को अलविदा कह दिया लेकिन जाने से पहले जो अहम खोज वह दुनिया को दे के गए हैं उसी के लिए उन्हें याद किया जाता है.ये भी पढ़ेंः PUBG Mobile 0.15.0 Update में मिलेगा हेलीकॉप्टर और रॉकेट लॉन्चर
भारत में 16 सितंबर को लॉन्च होगा Moto E6s, 10 हज़ार से कम होगी कीमत
27 हज़ार रुपये सस्ता हुआ Apple का ये iPhone

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)