इथोपिया के PM को मिलेगा नोबेल शांति पुरस्कार, पड़ोसी देश के साथ सुलझाया था सीमा-विवाद

इथोपिया के PM को मिलेगा नोबेल शांति पुरस्कार, पड़ोसी देश के साथ सुलझाया था सीमा-विवाद

ओस्लो: इथोपिया के प्रधानमंत्री अबिय अहमद को अपने देश में 'शांति और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग' स्थापित करने के उनके प्रयासों के लिए 2019 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चुना गया है. उन्हें खासकर पड़ोसी देश इरिट्रिया के साथ दो दशक से चले आ रहे सीमा विवाद को सुलझाने में उनकी 'निर्णायक पहल' के लिए इस पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है. ओस्लो में 100वें नोबेल शांति पुरस्कार के विजेता के रूप में उनके नाम की घोषणा की गई.

समाचार एजेंसी एफे ने नोबोल समिति के हवाले से कहा, "उनके सुधारों ने कई नागरिकों के बीच बेहतर जीवन और बेहतर भविष्य के लिए उम्मीद जगा दी." बयान के अनुसार, उनके प्रयासों को पहचान की और सराहना की जरूरत है. बयान के अनुसार, "नोबेल समिति उम्मीद करती है कि पुरस्कार प्रधानमंत्री अबिय अहमद के शांति और मेल-मिलाप के प्रयासों को मजबूती प्रदान करेगा."

 

 

अहमद के अप्रैल 2018 में प्रधानमंत्री बनने के बाद, इथोपिया ने इरिट्रिया के साथ शांति समझौता किया था. उनके इस प्रयास के बाद दोनों देशों के बीच 1998-2000 सीमा युद्ध की वजह से उत्पन्न 20 वर्षीय सैन्य टकराव समाप्त हो गया. अहमद ने इथोपिया में बड़े पैमाने पर उदारवादी सुधार शुरू किए जिसने इससे पहले इस अत्यधिक नियंत्रित देश में हलचल पैदा कर दी.

उन्होंने हजारों विपक्षी कार्यकर्ताओं को आजाद कर दिया और निर्वासित असंतुष्टों को देश आने की इजाजत दी. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए कुल 301 उम्मीदवार को नामित किया गया था, जिसमें से 223 व्यक्ति और 78 संगठन शामिल थे. उन्हें पुरस्कार के रूप में दिसंबर में ओस्लो में 90 लाख स्वीडिश क्राउन (नौ लाख डॉलर) दिया जाएगा.


(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Zee News.)