मरा हुआ दिल हुआ ज़िंदा, डॉक्टर्स ने किया ये चमत्कार

मरा हुआ दिल हुआ ज़िंदा, डॉक्टर्स ने किया ये चमत्कार
डॉक्टर्स को धरती का भगवान कहा जाता है और ये यूं ही नहीं है इस बात को हाल ही में डॉक्टर्स ने अपने एक प्रयास से साबित कर दिया है. डॉक्टर्स ने एक मृत डोनर के शरीर से प्राप्त हार्ट को चमत्कारी तकनीक (pioneering technique) का इस्तेमाल करते हुए दोबारा जीवित कर दिया है. इस हार्ट में अब खून का प्रवाह भी हो रहा है और ऑक्सीजन का संचार भी हो रहा है.

मेट्रो यूके डॉट कॉम के हवाले से इसके बाद डॉक्टर्स ने इस हार्ट को एक लीवर पेशंट को ट्रांसप्लांट किया है. अगर ये ट्रांसप्लांट सफल रहता है तो ये यूएस में अंगदान का इन्तजार कर रहे कई लोगों के लिए उम्मीद की एक नई किरण होगी. आजकल हार्ट ट्रांसप्लांट काफी कॉमन हो चुका है. ऐसे हालात में कई बार ट्रांसप्लांट के लिए अंगों की कमी पड़ ही जाती है.

इसे भी पढ़ें:  गहरे राज का खुलासा करने के बाद क्या आपको भी होता है पछतावा?

बता दें कि ये चमत्कार Duke University के सर्जन ने किया है. इस ट्रांसप्लांट को donation-after-death’ (DCD) कहा जा रहा है. इसमें डोनर के मरने के बाद उसका मरा हुआ हार्ट निकालकर उसके हार्ट को दोबारा काम करने योग्य बनाया गया है.इसे भी पढ़ें: Viral Video: रूसी सेना ने गाया भारतीय गाना 'ऐ वतन...हमको तेरी कसम', सोशल मीडिया पर मचा तहलका

हार्ट ट्रांसप्लांट प्रोगाम (Heart Transplantation Programme) के डायरेक्टर डॉक्टर जैकब (Dr Jacob Niall Schroder) ने आर्टिफीशियल तरीके से धड़कते हुए इस हार्ट का वीडियो ट्विटर पर ट्वीट किया है. यूके में यह तरीका साल 2009 से अपनाया जा रहा है. लेकिन ऐसा पहली बार है जब यूएस में इस प्रयोग को सफलता मिल सकी है. डोनर और जिस व्यक्ति को हार्ट डोनेट किया गया है वो एक दूसरे को नहीं जानते हैं.

इसे भी पढ़ें: मां के पेट में पल रहे बच्चे पर वायरस का खतरा?

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)