क्यों सिर्फ एक सीजन खेलने के बाद ही शुभमन गिल को टेस्ट टीम में मिल गया मौका?

क्यों सिर्फ एक सीजन खेलने के बाद ही शुभमन गिल को टेस्ट टीम में मिल गया मौका?
साउथ अफ्रीका के खिलाफ जब टेस्ट टीम का ऐलान होने वाला था तो सभी फैंस को उम्मीद थी कि इस बार सेलेक्टर्स केएल राहुल की जगह किसी युवा खिलाड़ी को मौका देंगे और हुआ भी ऐसा ही. पिछले एक साल से बेहद ही खराब प्रदर्शन कर रहे केएल राहुल को टेस्ट टीम से बाहर किया गया और उनकी जगह पंजाब के युवा बललेबाज शुभमन गिल को पहली बार टेस्ट टीम में चुना गया. सिर्फ 4 दिन पहले 20 साल के हुए शुभमन गिल महज एक सीजन फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेले और उन्हें टेस्ट टीम में जगह मिल गई. जबकि घरेलू क्रिकेट में पिछले काफी समय से शानदार प्रदर्शन कर रहे प्रियांक पांचाल और अभिमन्यु ईश्वरन को मौका नहीं दिया गया. आइए आपको बताते हैं कि आखिर क्यों शुभमन गिल इतने कम समय में ही सेलेक्टर्स की आंखों के तारे बन गए.

बेहतरीन रिकॉर्ड- शुभमन गिल अंडर 19 वर्ल्ड कप से दुनिया की नजरों में आए और तभी से उनका बल्ला लगातार रनों की बारिश कर रहा है. भारत को वर्ल्ड कप जिताने के बाद गिल को पंजाब ने फर्स्ट क्लास मैचों में मौका दिया और उन्होंने इस फॉर्मेट में भी किसी को निराश नहीं किया. शुभमन गिल ने 14 फर्स्ट क्लास मैचों में 72.15 की बेहतरीन औसत से 1443 रन बनाए. उन्होंने 4 मैचों में शतक ठोके और 8 अर्धशतक लगाए. इस दौरान शुभमन गिल ने 268 रनों की बड़ी पारी भी खेली.

शुभमन गिल ने 14 फर्स्ट क्लास मैचों में 1443 रन बनाए हैं


बड़ी पारियां खेलने का दम- शुभमन गिल की उम्र अभी छोटी है लेकिन वो बड़ी पारियां खेलने का दम रखते हैं. शुभमन गिल ने महज 14 साल की उम्र पंजाब इंटर डिस्ट्रिक्ट अंडर 16 टूर्नामेंट में 351 रनों की पारी खेली थी. इसके अलावा उन्होंने रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु के खिलाफ 268 रनों की बड़ी पारी भी खेली. हाल ही में गिल ने वेस्टइंडीज ए के दौरे पर 204 रन बनाए. इसके साथ ही वो फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक जमाने वाले भारतीय खिलाड़ी भी बने. गिल ने गौतम गंभीर का रिकॉर्ड तोड़ा था.
बतौर ओपनर गिल ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 16 मैचों में 1072 रन बनाए हैं


ओपनिंग और मिडिल ऑर्डर दोनों में फिट- शुभमन गिल की सबसे बड़ी खासियत ये है कि वो ओपनिंग और मिडिल ऑर्डर दोनों जगह बल्लेबाजी कर सकते हैं. बतौर ओपनर गिल ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 16 मैचों में 1072 रन बनाए हैं, जिसमें उनका औसत 76 से ज्यादा का है. वहीं मिडिल ऑर्डर में उन्होंने 53 के औसत से 371 रन भी बनाए हैं. बल्लेबाजी के अलावा शुभमन गिल एक बेहतरीन फील्डर भी हैं और उनकी फिटनेस गजब की है. शायद यही वजह है कि सेलेक्टर्स ने शुभमन गिल को टीम इंडिया में मौका दिया.

एमएस धोनी के संन्यास की खबरों पर चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने दिया बड़ा बयान

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)