द्रविड़ की निगरानी में इतिहास रचने के गुर सीख रहे हैं टीम के ये 5खिलाड़ी

द्रविड़ की निगरानी में इतिहास रचने के गुर सीख रहे हैं टीम के ये 5खिलाड़ी

नई दिल्‍ली. बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ टीम इंडिया (Team India) कोलकाता के ईडन गार्डन्स में ऐतिहासिक मुकाबला खेलेगी. दोनों ही टीमों के बीच खेले जाने वाले दो टेस्‍ट मैचों की सीरीज का आखिरी मैच डे नाइट पिंक बॉल (Pink Ball) से खेला जाएगा. जिसको लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. ऐतिहासिक मैच से पहले टीम इंडिया (Team India) ने पांच खिलाड़ी दूधिया रोशनी में पिंक बॉल से अभ्यास करने की तैयारी कर रहे हैं. टीम के ये पांच खिलाड़ी रविवार को बैंगलोर स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में करेंगे. इसके लिए गेंद बनाने वाली कंपनी एसजी  60 गेंदों की पहली खेप टीम को भेज सकती है. वहीं बांग्लादेश को ये गेंदे इंदौर में सोमवार को मिलेगी, जहां 14 नवंबर से पहला टेस्ट मैच खेला जाना है.


चार खिलाड़ी पहले ही खेल चुके हैं पिंक बॉल से
इं‌डियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार टीम के मैनेजमेंट से चर्चा करके पिंक गेंद से अभ्यास करने का फैसला नेशनल क्रिकेट एकेडमी के हेड राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने लिया. अभ्यास के लिए चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane), मयंक अग्रवाल, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा को चुना गया है. हालांकि इनमें से कुछ खिलाड़ी पुजारा, हनुमा, मयंक और रहाणे तीन सीजन पहले दिलीप ट्रॉफी में पिंक बॉल से खेल चुके हैं. हालांकि उस समय भारतीय बोर्ड ने कूकाबुरा बॉल को चुना था.अब एसजी गेंद के साथ अभ्यास करने का फैसला लिया गया है.




india vs bangladesh, ajinkya rahane, mayank agarwal, Mohammad Shami भारत बनाम बंग्लादेश, स्पोर्ट्स न्यूज, मोहम्मद शमी, रोहित शर्मा,
प‌िंक बॉल से 11 डे नाइट टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं. 

पहली बार एसजी गेंद से खेला जाएगा टेस्ट मैच
अब तक हुए 11 डे नाइट टेस्ट मैचों में कूकाबुरा और ड्यूक गेंद का इस्तेमाल हुआ है, लेकिन ऐसा पहली बार  होगा, जब टेस्ट में एसजी गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा.  खबर के अनुसार टेस्ट टीमों को सोमवार तक इंदौर में पहुंचना है और वहां जाने से पहले  दूधिया रोशनी में अभ्‍यास किया जाएगा. राहुल द्रविड़ की निगरानी में दुधिया रोशनी में बैंगलोर की सेंटर पिच पर अभ्यास किया जाएगा. जहां अभ्यास सत्र के लिए कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन गेंदबाज और फील्डर्स उपलब्‍ध करवाएगी.
पिंक बॉल  (Pink Ball) बनाने का तरीका रेड बॉल की ही तरह है, लेकिन लेदर के साथ अलग तरह से काम किया जाता है. यह चमकीले रंग के साथ रंगे होते है और पॉलिशड होते हैं. सीम का रंग भी काला होता है.

रोहित शर्मा के पास कमाल का मौका, भारत में आज तक कोई नहीं कर पाया ऐसा


15 साल की हरियाणा की छोरी ने किया कमाल, तोड़ा सचिन तेंदुलकर का वर्ल्ड रिकॉर्ड


 

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)