राहुल गांधी पर दिग्विजय सिंह ने दिया अहम बयान

राहुल गांधी पर दिग्विजय सिंह ने दिया अहम बयान
धर्मशाला (हिमाचल प्रदेश). मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने शनिवार को कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष पद छोड़ना ही नहीं चाहिए था. दिग्विजय सिंह, हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने इस दौरान केंद्र की भाजपा सरकार की नीतियों और कार्यशैली, राफेल विमान मामला समेत मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के शासनकाल में हुए घोटालों पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) से धारा 370 (Article 370) के प्रावधान हटाने को लेकर गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर भी प्रहार किया.

कांग्रेस कभी मिट नहीं सकती
धर्मशाला में शनिवार को एक सम्मेलन में पहुंचे कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस को लेकर उठे कई सवालों के जवाब दिए. उन्होंने राहुल गांधी और विपक्ष के तौर पर कांग्रेस के कमजोर प्रदर्शन संबंधी सवालों का भी बेबाकी से जवाब दिया. पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष पद छोड़ना ही नहीं चाहिए था. देश की राजनीति से कांग्रेस के ओझल होने की बात पर दिग्विजय ने कहा कि कांग्रेस एक आंदोलन और विचारधारा है, जो कभी मिट नहीं सकती.

भाजपा पर हमलाजम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद वहां शांति कायम होने के गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे गृह मंत्री की किसी बात पर भरोसा नहीं करते हैं. फ्रांस में गृह मंत्री द्वारा राफेल विमान की पूजा की आलोचना पर उन्होंने कहा कि राफेल की पूजा करने में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी खुद इनकी आलोचना कर चुके हैं. ऐसे में यह विरोधाभासी हो जाता है. उन्होंने आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में हुए व्यापम घोटाला और हनीट्रैप स्कैंडल दोनों में भाजपा के लोग शामिल हैं.

मंदी पर भी बात
कांग्रेस नेता ने कहा कि केंद्र सरकार सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल को बंद करने की तैयारी में है. इससे 45 हजार लोगों की नौकरी जा सकती है. अन्य सरकारी कंपनियों को भी बेचने की बात चल रही है. दिग्विजय सिंह ने देश में मंदी के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पीएम निर्णय लेने में बहुत जल्दी करते हैं. केंद्र सरकार ने पूरी तैयारी किए बिना नोटबंदी और जीएसटी लागू कर दिए, बाद में हर महीने जीएसटी के स्लैब बदलने पड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि हाल ही में आई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि देश की 90 फीसदी संपत्ति 10 परिवारों के पास है, अमीर-गरीब की इस खाई को पाटने की जरूरत है. दिग्विजय ने कहा कि भाजपा बड़े उद्योगपतियों की मददगार है. इसलिए कुछ समय पहले कॉरपोरेट टैक्स 30 फीसदी से कम करके 23 फीसदी कर दिया गया. लेकिन छोटे कारोबारियों को उबारने के लिए कोई प्रयास नहीं किए गए.
ये भी पढ़ें -

हिंदू बनकर मुस्लिम महिला-पुरुष चलाते थे सेक्स रैकेट, सच्चाई जानकर उड़े पुलिस के होश

केंद्रीय मंत्री बोलीं- आदिवासी भी हिंदू हैं, विदेशी पैसों का लालच देकर उनका धर्मांतरण कराना गलत

किसानों के कर्ज पर CM कमलनाथ का सिंधिया को करारा जवाब, ट्वीट कर कही ये बात

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)