सरकार ने शुरू की एक और गारंटीड मुनाफा देने वाली स्कीम, यहां जानिए सबकुछ

सरकार ने शुरू की एक और गारंटीड मुनाफा देने वाली स्कीम, यहां जानिए सबकुछ
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में कैबिनेट ने भारत बॉन्ड ईटीएफ (Bharat Bond ETF) को मंजूरी दे दी है. ये भारत बॉन्ड ईटीएफ अपने तरह का देश का पहला एक्सचेंज ट्रेडेड फंड है. यह कॉरपोरेट बॉन्ड के लिए Bharat Bond ETF लॉन्च किया जा रहा है. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण ने इसकी घोषणा की. आपको बता दें कि इस स्कीम में दो विकल्प होंगे. एक ऑप्शन की परिपक्वता अवधि (मैच्योरिटी पीरियड) 3 साल और दूसरे का 10 साल का होगा. यानी एक 2023 में मैच्योर होगा और दूसरा 2030 में. इसमें सिर्फ ग्रोथ ऑप्शन मिलेगा, डिविडेंड ऑप्शन नहीं मिलेगा.

Bharat Bond ETF में करीब एक दर्जन सरकारी कंपनियों के शेयर होंगे. जो कंपनियां इसमें शामिल होंगी उनमें नेशनल हाइवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया, इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन, पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन, नेशनल थर्मल कॉरपोरेशन, नाबार्ड, एक्जिम बैंक, न्यूक्लियर पावर, आरएसी, पावरग्रिड जैसी कंपनियों के शेयर इसमें रखे जाएंगे. ये भी पढ़ें: सोशल साइट और ऐप से अब नहीं चुरा पाएगा कोई भी आपकी निजी जानकारी, सरकार का फैसला 

इन एक दर्जन कंपनियों के यूनिट की साइज कम से कम 1 हजार यूनिट साइज होगा और इस जरिए जो पैसा जुटाया जाएगा वो कंपनियों के साला फंड रेजिंग प्लान के तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक, Bharat Bond ETF को इसी महीने के दूसरे या तीसरे हफ्ते में लॉन्च किया जा सकता है. इसका मुख्य मकसद ये है कि खासतौर से बॉन्ड और डेट मार्केट में सरकार का पेनीट्रेशन बढ़ाना, रिटेल निवेशकों और कॉरपोरेट्स का ध्यान आकर्षित करना है. इन्हीं मकसद के साथ Bharat Bond ETF को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है.

तीन तरह से मिलेगा खरीदने का मौका

(1) एक्सचेंज- एक्सचेंज पर बॉन्ड ETF की लिस्टिंग होगी. यहां से निवेशक खरीद सकते हैं. प्रत्येक बॉन्ड ETF की कीमत 1,000 रुपये होगी.
(2) मार्केट मेकर- जब कोई खरीदार नहीं होगा तो मार्केट मेकर बॉन्ड की खरीद-बिक्री करेंगे. एक समय में 1 करोड़ रुपये यूनिट की खरीद-बिक्री कर सकते हैं.

(3) AMC- बड़े निवेशक एएमसी के जरिए खरीदारी कर सकते हैं. ऐसे निवेशक 25 करोड़ रुपये या इससे ज्यादा की खरीदारी कर सकते हैं.

भारत बॉन्ड ETF की खासियत-

>> यह किसी CPSE,CPSU, CPFI या किसी भी सरकारी बॉन्ड में निवेश करेगा.
>> एक्सचेंज पर बॉन्ड में ट्रेडिंग हो सकेगी.
>> न्यूनतम यूनिट साइज 1000 रुपए का है.
>> ट्रांसपेरेंट NAV (दिन भर में LIVE NAV)
>> ट्रांसपेरेंट पोर्टफोलियो (वेबसाइट पर रोज ब्योरा)
>> हर ETF की एक तय मैच्योरिटी तारीख होगी.
>>अभी इसकी मैच्योरिटी की तारीख 3 से 10 साल के लिए है.

क्या है बांड ईटीएफ?
बांड ईटीएफ एक ऐसा फंड होता है, जो एक्सचेंज में ट्रेड करता है और पारंपरिक बांड म्यूचुअल फंड की तरह बांड में निवेश करता है. एक्टिवली मैनेज्ड डेट फंड के मुकाबले बांड ईटीएफ को कम खर्च पर एक्सचेंज पर खरीदा-बेचा जा सकता है.

(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक पॉलिटिकल एडिटर- CNBC आवाज़)

ये भी पढ़ें: 15 दिसंबर से इस बैंक में बदल जाएंगे पैसों के लेनदेन के नियम, जान लें नहीं तो होगा नुकसान

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)