ASHES: मिचेल मार्श ने खोला राज, क्यों नफरत करते हैं उनसे ऑस्ट्रेलिया में बहुत से लोग

ASHES: मिचेल मार्श ने खोला राज, क्यों नफरत करते हैं उनसे ऑस्ट्रेलिया में बहुत से लोग

लंदन: ओवल में चल रही इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज (Ashes Series) का आखिरी टेस्ट पहले दिन ही रोमांचक हो गया. दिन के पहले दो सत्र ऑस्ट्रेलिया के नाम रहे तो तीसरे सत्र में इंग्लैंड ने वापसी करने में कामयाबी हासिल कर ली. मैच में इंग्लैंड के लिए जोस बटलर ने शानदार 64 रनों की पारी खेली तो वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिए मिचेल मार्श (Mitcell Marsh) टीम के हीरो रहे. मार्श ने पहले दिन ऑस्ट्रेलिया के लिए अहम चार विकेट चटकाए. दिन का खेल खत्म होने के बाद बताया की उनके देश में कई लोग उनसे नफरत करते हैं.

एक साल बाद वापसी की है मिचेल ने
मार्श ने करीब एक साल बात ऑस्ट्रेलियाई टीम में वापसी की है. मार्श ने बेन स्टोक्स, जॉनी बेयरस्टो, सैम करन और क्रिस वोक्स के अहम विकेट लेकर इंग्लैंड को संकट में डाल दिया था. मार्श के स्पेल के दम पर ही ऑस्ट्रेलिया ने मैच में वापसी की थी. मार्श को 2018-19 के सीजन में टीम के उपकप्तान बनाया गया था. मार्श ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया में बहुत से लोग इसलिए उनसे नफरत करते हैं क्योंकि वे बहुत मौके दिए जाने के बाद भी टीम में जगह पक्की नहीं कर सके. 

यह भी पढ़ें: विराट कोहली के नाम को मिली अरुण जेटली स्टेडियम में खास जगह

क्यों करते हैं नफरत
मार्श ने कहा, “हां बहुत से ऑस्ट्रेलियाई मुझसे नफरत करते हैं. ऑस्ट्रेलिया के लोग बहुत जुनूनी होते हैं. वे क्रिकेट से बहुत प्यार करते हैं और चाहते हैं कि खिलाड़ी इसमें अच्छा करें. इसमें कोई शक नहीं कि मुझे टेस्ट स्तर पर बहुत से मौके मिले और मैं उनका अच्छे से फायदा नहीं उठा सका. लेकिन उम्मीद है कि वे इस बात से मेरा सम्मान करेंगे कि मैं वापसी करता रहा और मैं ऑस्ट्रेलिया के खेलना पसंद करता हूं. मुझे यह ग्रीन कैप पसंद है. मैं कोशिश करता रहूंगा और उम्मीद करता हूं कि एक दिन उनका दिल जीत लूंगा.”

क्या था फॉर्म जाने का कारण
पिछले सीजन में मार्श अच्छे फॉर्म में नहीं थे और रन नहीं बना सके थे. इसका कारण बताते हुए उन्होंने कहा, “मैं रन नहीं बना रहा था. नंबर चार पर ऑस्ट्रेलिया के लिए आपको बहुत से रन बनाने पड़ते हैं. पिछले साल मेरे निजी जीवन में कुछ समस्याएं आई थी. पिछली गर्मियों में मेरे एक नजदीकी दोस्त ने आत्महत्या कर ली. इससे मेरे क्रिकेट पर असर पड़ा. मैं इस मामले को अच्छे से नहीं संभाल सका. अब मैं यहां आना चाहता था और और प्लेइंग इलेवन में मौका न मिलने पर भी टीम पर सकारात्मक असर छोड़ना चाहता था.”  

इंग्लैंड ने द ओवल मैदान पर अपनी पहली पारी में आठ विकेट पर 271 रन का स्कोर बनाया. स्टंप्स के समय बटलर 64 रन और जैक लीच 10 रन बनाकर नाबाद लौटे.  इंग्लैंड ने चाय के बाद तीन विकेट पर 169 रन से आगे खेलना शुरू किया. कप्तान जो रूट (53) और जॉनी बेयरस्टो ने अपनी पारी को (14) रन से आगे बढ़ाया. टीम ने तीसरे सत्र के दौरान 47 रन के अंदर ही अपने पांच विकेट गंवा दिए, लेकिन बटलर ने फिफ्टी जड़कर मेजबान टीम को पहले ही दिन ऑल आउट होने से बचा लिया. इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया फिलहाल 2-1 से आगे चल रही है.


(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Zee News.)