उपचुनावों से पहले पूर्व PM देवेगौड़ा के पोते और 6 अन्य के खिलाफ केस दर्ज

उपचुनावों से पहले पूर्व PM देवेगौड़ा के पोते और 6 अन्य के खिलाफ केस दर्ज
(रेवती राजीव)

बेंगलुरु. पूर्व प्रधानमंत्री (Former Prime Minister) और जनता दल (सेक्युलर) के प्रमुख एचडी देवेगौड़ा (HD Deve Gowda) के पोते सूरज रेवन्ना (Suraj Revanna) और पांच अन्य लोगों के खिलाफ बुधवार को चार बीजेपी कार्यकर्ताओं (BJP workers) पर कथित हमले के मामले में केस दर्ज किया गया है. बताया जा रहा है कि यह कथित हमला कर्नाटक (Karnataka) के हासन जिले में हुआ. एक FIR, जिसे जिले के चन्नारायपटना पुलिस स्टेशन में सभी छह लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास के आरोप में दर्ज कराया गया है.

सूरज पूर्व मंत्री एचडी रेवन्ना (HD Revanna) के बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी (HD Kumaraswamy) के भतीजे हैं.

FIR में आरोप आरोपियों के साथ 150-200 लोगों ने घर में घुसकर पीटाFIR के मुताबिक इन छह लोगों पर जेडीएस कार्यकर्ताओं के पार्टी छोड़कर बीजेपी जॉइन कर लेने पर कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया गया है. FIR के मुताबिक कथित घटना के समय इन आरोपियों के साथ 150 से 200 लोग पीड़ित के घर पहुंचे, जहां पर बीजेपी के कार्यकर्ता इकट्ठा थे, और उन्हें मारने की धमकी दी. इसके बाद आरोपियों ने कथित तौर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं को लाठियों (Sticks) से पीटना शुरू कर दिया. इसके अलावा उन्होंने घर के बाहर पार्किंग में खड़ी दो कारों को भी नुकसान पहुंचाया.

घायलों को चन्नारायपटना सरकारी हॉस्पिटल ले जाया गया है जहां उनका इलाज (Treatment) चल रहा है.

कई सारी गंभीर धाराओं में दर्ज की गई 6 आरोपियों के खिलाफ FIR
भारतीय दंड संहिता (IPC) के कई सारे प्रावधानों के अंतर्गत आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. इनमें हत्या के प्रयास, दंगा भड़काने, जानलेवा हथियार लेकर चलने, जानबूझकर विश्वास को चोट पहुंचाने, घर में जबरदस्ती घुसने और एकतरफा तरीके से चोट पहुंचाने जैसे अपराधों से जुड़ी हुई धाराएं हैं.

इन आरोपों को खारिज करते हुए एचडी रेवन्ना ने कहा है कि सूरज इस वारदात के समय घटनास्थल पर मौजूद तक नहीं था यह एक गढ़ा गया (Fabricated) मामला है.

पिता ने किया बचाव, कहा- घटना के समय मंडागिरी में प्रचार कर रहे थे सूरज
एचडी रेवन्ना ने कहा, सूरज, मंडागिरी में चुनाव प्रचार कर रहा था (यह केआर पेट विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाला एक गांव है, जो मांड्या जिले में पड़ता है). उप मुख्यमंत्री अश्वथ नारायण और मैसूर (Mysore) के IG ने उसे पहला आरोपी बनाया है. पिछले हफ्ते उनकी निगरानी के अंदर केआर पेट विधानसभा क्षेत्र में पैसे बांटे गए थे. हमें इसके बारे में जानकारी है और हमने इसके बारे में चुनाव आयोग को भी खबर की है. और यह सब निंबाहाली गांव से हो रहा है, जहां पर बेंगलुरू के दो बीजेपी के कॉरपोरेटर्स ने डेरा डाला हुआ है.

एचडी रेवन्ना ने यह भी दावा किया है कि जिले के जेडीएस (JDS) के कार्यकर्ता एसपी के ऑफिस के बाहर 6 दिसंबर को धरने पर बैठेंगे.

यह भी पढ़ें: येडियुरप्पा पर भड़के डीके, बोले-मेरी दाढ़ी याद दिलाती है मुझे जेल किसने भेजा

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)