अयोध्या पर SC के फैसले के बाद ऐसे शांति बनाए रखने की कोशिश कर रहे NSA डोभाल

अयोध्या पर SC के फैसले के बाद ऐसे शांति बनाए रखने की कोशिश कर रहे NSA डोभाल
नई दिल्ली. अयोध्या मामले (Ayodhya Case) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आ चुका है. इस मामले में राम मंदिर (Ram Mandir) बनने का रास्ता साफ हो चुका है. लेकिन इस फैसले के मद्देनजर शांति और व्यवस्था कायम रखे के लिए सरकार की ओर से NSA अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने कई धर्मगुरुओं के साथ मीटिंग की है. सरकार की ओर से NSA अजीत डोभाल ने बाबा रामदेव, स्वामी परमात्मानंद, अवधेशानंद गिरि, शिया मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद और मौलाना अरशद मदनी से मुलाकात की. इन लोगों की यह मीटिंग राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के घर पर ही बुलाई गई थी.

सूत्रों के मुताबिक, इस मीटिंग में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) ने धर्मगुरुओं से देश में मौजूदा स्थिति को लेकर चर्चा की. इसके अलावा यह तय हुआ कि किस तरह से विभिन्न समुदाय के नेता फैसले को ध्यान में रखते हुए सद्भाव (Harmony) बनाए रखने का संदेश फैला सकते हैं.

भाईचारा और मेलजोल की भावना बनाए रखे की अपील
NSA अजीत डोभाल से मुलाकात के बाद मीटिंग में मौजूद धार्मिक नेताओं ने एक संयुक्त बयान भी जारी किया. इस बयान में उन्होंने कहा, "इस बातचीत ने सभी समुदायों के बीच भाईचारा और मेलजोल की भावना को बरकरार रखने की दिशा में काम करने के लिए सभी धार्मिक समूहों के बीच सौहार्द की भावना और भाईचारा मजबूत करने में मदद की है."


बता दें कि अवधेशानंद गिरि हिंदू धर्माचार्य सभा के चेयरमैन भी हैं. उनके अलावा संत परमात्मानंद को PM मोदी का करीबी माना जाता है. अवधेशानंद गिरि और परमात्मानंद ने बताया कि अयोध्या पर फैसले के बाद देश की परिस्थितियों पर उनकी अजीत डोभाल से बातचीत हुई. परमात्मानंद ने कहा कि हमने देश में शांति व्यवस्था बनाए रखने के उपायों NSA के साथ चर्चा की. हम इसे लेकर काम करते रहेंगे.

यूपी में मिलाद-उन-नबी के जुलूस पर रोक नहीं
इस दौरान यूपी सरकरा ने पूरे सूबे में कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था कर रखी है. हालांकि मिलाद-उन-नबी के जुलूस पर रोक नहीं है. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि अयोध्या के फैसले के मद्देनजर उठाए गए कदमों में मिलाद-उन-नबी के जुलूस पर रोक लगाना नहीं शामिल है. हालांकि अन्य किसी तरह का धार्मिक जुलूस निकालने की मनाही है.

यह भी पढ़ें: अयोध्या में 2.77 एकड़ नहीं, बस 0.3 एकड़ जमीन को लेकर है सुप्रीम कोर्ट का फैसला

(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from News 18.)